इंडिया न्यूज़जम्मू कश्मीर

नुपुर शर्मा विवाद : रामबन जिले में बहाल कर दी गयीं लैंडलाइन और मोबाइल इंटरनेट सेवाएं

इंडिया एज न्यूज नेटवर्क

रामबन/भद्रवाह : जम्मू कश्मीर के रामबन जिले में लैंडलाइन और मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दी गयीं जबकि डोडा जिले के भद्रवाह शहर में साम्प्रदायिक तनाव के बाद सोमवार को लगातार पांचवें दिन भी कर्फ्यू लागू है। उल्लेखनीय है कि भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा की पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ की गई कथित टिप्पणी को लेकर केंद्र शासित प्रदेश में तनाव के चलते कई इलाकों में इंटरनेट सेवा स्थगित कर दी गई थी।

डोडा के कई अन्य हिस्सों और नजदीकी किश्तवाड़ जिले में एहतियाती तौर पर लागू निषेधाज्ञा में ढील दी गई है लेकिन भद्रवाह शहर में कर्फ्यू लागू है। हालांकि, बोर्ड परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों को वैध पहचान पत्र तथा प्रवेश पत्र दिखाकर आने-जाने दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रामबन जिले में रविवार देर रात ब्रॉडबैंड और मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल की गयीं, जो साम्प्रदायिक तनाव के मद्देनजर नौ जून से निलंबित थीं।

डोडा और किश्तवाड़ में एहतियाती तौर पर इंटरनेट सेवाएं अब भी स्थगित हैं। भद्रवाह में लाउडस्पीकर वाले पुलिस वाहनों से लोगों को घरों के भीतर रहने की सुबह से कई घोषणाएं की गयी हैं। बहरहाल, बोर्ड परीक्षाएं दे रहे छात्रों को वैध पहचान पत्र और प्रवेश पत्र दिखाकर परीक्षा केंद्र तक जाने के लिए कहा गया है। शिक्षा विभाग के अधिकारी राणा आरिफ ने कहा, “प्रशासन के निर्देशों के अनुसार, 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं दे रहे छात्रों की बिना बाधा के आवाजाही के लिए प्रवेश पत्रों को कर्फ्यू पास के तौर पर माना जा रहा है।”

विभिन्न समुदायों के बीच बैठकों के समन्वय और छात्रों के मुद्दों को हल करने के लिए नियुक्त जनसंपर्क अधिकारी आरिफ ने कहा कि लगभग सभी छात्र और कर्मी समय पर परीक्षा केंद्र पहुंच गए हैं। आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि सीआरपीसी की धारा-144 के तहत गत बृहस्पतिवार को लागू निषेधाज्ञा को भद्रवाह शहर को छोड़कर पूरे डोडा जिले से हटा लिया गया है। डोडा जिले के उपायुक्त विकास शर्मा ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अब्दुल कयूम के साथ पूरे जिले की कानून व्यवस्था की समीक्षा की। उपायुक्त ने स्थानीय लोगों से सांप्रदायिक सौहर्द्र बनाए रखने की अपील की और किसी भी ऐसी गतिविधि में शामिल नहीं होने को कहा जिससे कानून व्यवस्था पर विपरीत असर हो।

प्रवक्ता ने बताया कि डोडा, थातरी और गंदोह में बाजार खुले हैं जबकि “भद्रवाह में भी स्थिति सामान्य है और हालात पर लगातार नजर रखी जा रही है।”अधिकारियों ने बताया कि किश्तवाड़ शहर में कर्फ्यू तुल्य पाबंदियों में शाम छह बजे करीब डेढ़ घंटे की ढील दी गई।पुलिस अधिकारी ने बताया, च्च्स्थिति नियंत्रण में है और कहीं से अवांछित घटना की सूचना नहीं आई है।” उन्होंने कहा कि किश्तवाड़ शहर में ढील की मियाद बढ़ाई जा सकती है।

इस बीच, नौ जून को भद्रवाह के मरकजी जामिया मस्जिद में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में रविवार को गिरफ्तार आदिल गफूर गनई को सचल मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे पांच दिनों के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। वहीं, एक किशोर आरोपी को जम्मू की अदालत से अग्रिम जमानत मिल गई। आरोप है कि किशोर के सोशल मीडिया पोस्ट ने मुस्लिम समुदाय के प्रदर्शन को हवा दी। महिला पुलिस हेड कांस्टेबल का १७ वर्षीय बेटा, पुलिस द्वारा मामला दर्ज किए जाने के बाद से हिरासत में लिए जाने से बच रहा था। वहीं, पुलिस द्वारा समस्या उत्पन्न करने में संलिप्त अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की कार्रवाई जारी है।
(जी.एन.एस)

India Edge News Desk

Follow the latest breaking news and developments from Chhattisgarh , Madhya Pradesh , India and around the world with India Edge News newsdesk. From politics and policies to the economy and the environment, from local issues to national events and global affairs, we've got you covered.
Back to top button