इंडिया न्यूज़गुजरात

राष्ट्रीय रिकॉर्ड : सिर्फ 75 दिनों में निपटाया 3.5 किलोमीटर लंबे रनवे का काम

Advertisement

इंडिया एज न्यूज नेटवर्क

अहमदाबाद : अदाणी ग्रुप द्वारा प्रबंधित सरदार वल्लभभाई पटेल इंटरनेशनल एयरपोर्ट (एसवीपीआईए) ने अपने 3.5 किलोमीटर लंबे रनवे पर 75 दिनों के रिकॉर्ड समय में रीकार्पेटिंग का काम पूरा कर लिया है। यह अवधि भारत में ब्राउनफ़ील्ड रनवे के लिए सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ है।

Advertisement

अहमदाबाद का एसवीपीआईए गुजरात का सबसे व्यस्त हवाई अड्डा है, जहां पूर्व-कोविड समय में हर दिन 200 से अधिक उड़ानें होती रही हैं। अदाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड (एएएचएल) द्वारा निर्धारित उड़ानों के परिचालन को प्रभावित किए बिना रनवे की रीकार्पेटिंगकी चुनौती को केवल नौ घंटे के एनओटीएएम (नोटिस टू एयरमेन) में पूरा किया गया था। परियोजना को पूरा करने में लगे 75 दिनों के दौरान, एसवीपीआईए ने दिन के शेष 15 घंटों के दौरान औसत रूप से 160 उड़ानों के लिए रनवे को हर दिन खुला रखा।

रीकार्पेटिंग के लिए बिछाई गई डामर की मात्रा 200 किमी की सड़क बनाने में लगने वाली मात्रा के बराबर थी, और रनवे ड्रेनेज सिस्टम के लिए इस्तेमाल किया गया कंक्रीट 40 मंजिला निर्माण करने में लगने वाले कंक्रीट के बराबर रहा।

Advertisement

परियोजना को पहले 10 नवंबर 2021 से शुरू करके 200 कार्य दिवसों के लिए नियोजित किया गया था। हालांकि, परिचालन दक्षता में सुधार और यात्रियों की असुविधा कम करने के लिए कंपनी द्वारा लगातार किए जा रहे प्रयास को ध्यान में रखते हुए, अदाणीग्रुप ने संसाधन बढ़ाते हुए 90 दिनों के लक्ष्य को रीसेट कर दिया था। इसके बाद, एसवीपीआईए की परियोजना टीम ने केवल 75 दिनों में काम पूरा किया। इस परियोजना में 200 से अधिक परिष्कृत उपकरणों के साथ 10 लाख सुरक्षित श्रम घंटे और 600 व्यक्तियों का सहयोग मिला, जिसमें स्टाफ और मजदूर शामिल रहे।

एसवीपीआईएका रीकार्पेटिंग रिकॉर्ड अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि मुम्बई, कोच्चि, नई दिल्ली, बेंगलुरु और हैदराबाद जैसे अन्य ब्राउनफील्ड भारतीय हवाई अड्डों के पास अधिक समय उपलब्ध था या एक अतिरिक्त रनवे था।

Advertisement

जब अदाणी ग्रुप ने नवंबर 2020 में एसवीपीआईए का प्रबंधन संभाला, तो एएएचएल ने महसूस किया कि रनवे की राइडिंग क्वालिटी वांक्षित गुणवत्ता से कम थी, और रनवे पर जल निकासी की समस्याएं मौजूद थीं। रनवे की रीकार्पेटिंग परियोजना को, उद्योग मानकों के अनुसार, तीन कैलेंडर वर्षों में दो चरणों में पूरा करने का अनुमान लगाया गया था। लेकिन एएएचएल ने पूरे काम को कम से कम समय में पूरा करने की चुनौती स्वीकार की।

एसवीपीआईए में पूरा किए गए अन्य अपग्रेडिंग कार्यों के अलावा, हवाई अड्डे के पास अब रनवे और कनेक्टिंग टैक्सीवे का एक संपूर्ण एयरफील्ड लाइटिंग सिस्टम है जो 12 से 14 गांवों वाले एक पूरे जिले में रोशनी करने के बराबर है।

Advertisement

अदाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड (एएएचएल) के बारे में
एएएचएलको 2019 में अदाणीग्रुप की प्रमुख कंपनी अदाणी एंटरप्राइजेज लिमिटेड की 100% सहायक कंपनी के रूप में शामिल किया गया था। इंटीग्रेटेड इंफ्रास्ट्रक्चर और ट्रांसपोर्ट लॉजिस्टिक्स में वैश्विक लीडर होने के अपने दृष्टिकोण के अनुरूप, अदाणीग्रुप ने छह हवाई अड्डों के परिचालन, प्रबंधन और विकास के लिए उच्चतम बोली लगायी और एयरपोर्ट्स सेक्टर में अपना पहला उद्यम शुरू किया, जिनमें अहमदाबाद, लखनऊ, मंगलुरु, जयपुर, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरमशामिल थे। कंपनी ने इन सभी छह हवाई अड्डों के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के साथ रियायत समझौतों पर हस्ताक्षर किए। एएएचएलकी मुम्बई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड में भी 73% हिस्सेदारी है, जो बदले में नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड में 74%हिस्सेदारी रही है। अपने प्रबंधन और विकास पोर्टफोलियो में शामिल आठ हवाई अड्डों के साथ, एएएचएलभारत की सबसे बड़ी एयरपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी है, जो कुल यात्रियों के25% हिस्से को सेवाएं प्रदान करती है और भारत का33 प्रतिशत एयर कार्गो ट्रैफिक संभालती है।
(जी.एन.एस)

Advertisement

Advertisement

India Edge News Desk

Follow the latest breaking news and developments from Chhattisgarh , Madhya Pradesh , India and around the world with India Edge News newsdesk. From politics and policies to the economy and the environment, from local issues to national events and global affairs, we've got you covered.
Back to top button