इंडिया न्यूज़वर्ल्ड
Trending

India-Maldives: यामीन ने किया दावा, उनका भारत के प्रति कोई व्यक्तिगत उद्देश्य या शत्रुता नहीं

"इंडिया आउट" आंदोलन का एकमात्र उद्देश्य भारतीय सेना को अपने क्षेत्र से हटाना

Advertisement

इंडिया न्यूज़, India-Maldives: न्यूज़मालदीव में ‘इंडिया आउट’ जैसा भारत विरोधी अभियान शुरू करने वाले पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन के सुर बदल गए हैं. उन्होंने कहा कि मालदीव के तीन उपमंत्रियों द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर की गई अपमानजनक टिप्पणियों के कारण भारत के साथ लंबे समय से चले आ रहे मैत्रीपूर्ण संबंध खराब हो गए हैं.

भारत के प्रति कोई व्यक्तिगत उद्देश्य या शत्रुता नहीं

मंगलवार रात पीपुल्स नेशनल फ्रंट (पीएनएफ) कार्यालय में एक सभा में बोलते हुए यामीन ने यह दावा किया मालदीव से भारतीय सैनिकों को हटाने के लिए “इंडिया आउट” आंदोलन शुरू करने के बावजूद, उनका भारत के प्रति कोई व्यक्तिगत उद्देश्य या शत्रुता नहीं है।

Advertisement

आंदोलन का एकमात्र उद्देश्य भारतीय सेना को अपने क्षेत्र से हटाना

यामीन ने कहा, “इस हद तक कि हम इसे स्वीकार नहीं कर सकते कि जिम्मेदार पदों पर बैठे तीन लोगों ने विचारधारा वाली भाषा का इस्तेमाल किया और बोली लगाने वाली भाषा का इस्तेमाल किया। इसे भारत सरकार स्वीकार नहीं कर सकती।” यामीन ने भारत के ख़िलाफ़ “व्यक्तिगत हमले” से खुद को दूर रखने की कोशिश की और “इंडिया आउट” आंदोलन का एकमात्र उद्देश्य भारतीय सेना को अपने क्षेत्र से हटाना था।

यामीन इंडिया आउट अभियान के सूत्रधार

यामीन भ्रष्टाचार के गंभीर मामले में जेल की सजा काट रहे हैं। चुनाव में यामीन का समर्थन करने वाले गठबंधन की जीत के बाद उन्हें जेल से रिहा कर दिया गया है और नजरबंद कर दिया गया है। वह मालदीव में इंडिया आउट अभियान के सूत्रधार भी हैं।

Advertisement

हालाँकि, उनकी सरकार के दौरान ही मालदीव एक और भारतीय हेलीकॉप्टर और डोर्नियर विमान स्वीकार करने पर सहमत हुआ था। 2016 में यामीन की आधिकारिक भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे।

यामीन को चीन समर्थक नेता माना जाता है

अब्दुल्ला यामीन को चीन समर्थक नेता माना जाता है. अपने कार्यकाल के अंतिम वर्ष में उन्होंने भारत से घोर शत्रुता पाल ली थी। यामीन ने भारत से अपने हेलीकॉप्टर और डोर्नियर विमान वापस बुलाने की भी अपील की थी. यामीन ने अवैध रूप से चीन को एक द्वीप देने की भी कोशिश की थी. उसने मालदीव को भी चीनी कर्ज के जाल में फंसा लिया था.

Advertisement
Advertisement

Hackette

हमारा उद्देश्‍य देश और दुनिया के लोगों को वास्तवविकता से अवगत कराना, विशेष रूप से राजनीतिक खबरों पर पैनी नजर और समसामयिक घटनों का विष्लेषण एवं अपराध समाचारों को सब से पहले आपतक पहुँचाना हमारी जिम्मेदारी
Back to top button