राजस्थान
Trending

Kota Suicide Case: पंखे से लटका मिला छात्र का शव, कर रहा था जेईई की तैयारी; शुभ छत्तीसगढ़ का रहने वाला था

छत्तीसगढ़ के रहने वाले शुभ ने कोटा में अपने हॉस्टल के कमरे में पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली. शुभ ने 29 जनवरी को जेईई मेन्स परीक्षा दिया था

Advertisement

सूरजपुर, Kota Suicide Case:  शिक्षा की नगरी कहे जाने वाले राजस्थान के कोटा में एक बार फिर कोचिंग छात्र द्वारा आत्महत्या का मामला सामने आया है. यहां छात्र ने मंगलवार सुबह अपने ही कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इसी बीच घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर शवगृह में रखवा दिया है और परिजनों का इंतजार कर रही है. बताया जा रहा है कि छात्र छत्तीसगढ़ के सूरजपुर के जरही के एक इंटक नेता का बेटा है |

जानकारी के अनुसार

जरही निवासी इंटक नेता अनिल चौधरी का पुत्र शुभ चौधरी पिछले दो वर्षों से राजस्थान के कोटा स्थित एलन इंस्टीट्यूट में रहकर आईआईटी की तैयारी कर रहा था. उन्होंने 29 जनवरी को जेईई मेन्स परीक्षा दी थी, जिसका रिजल्ट मंगलवार दोपहर करीब 3 बजे घोषित किया गया। नतीजे घोषित होने के बाद शुभ परेशान हो गया क्योंकि नतीजे अच्छे नहीं आए। उन्होंने अपने ही कमरे में पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली |

Advertisement

छात्र शुभ की मां ने हमेशा की तरह मंगलवार सुबह फोन कर बच्चे का हालचाल लिया

इस दौरान शुभ ने कॉल रिसीव नहीं की। इसके बाद परिवार वालों ने एक के बाद एक कई बार फोन किया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। आख़िरकार शुभ के पिता ने वार्डन अधीक्षक को फ़ोन किया और शुभ का हालचाल पूछा। जिस पर वार्डन अधीक्षक कमरे में गए और आवाज लगाई।

शुभ के द्वारा जवाब नहीं मिलने पर परिजन समेत वार्डन अधीक्षक भी घबरा गया

आनन-फानन में दरवाजा तोड़कर देखा गया तो शुभ का शव पंखे से लटका हुआ मिला। उसने तत्काल घटना की जानकारी लोकल पुलिस समेत परिजनों को दी। सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। उधर, मृतक के मामा दिल्ली से कोटा के लिए रवाना हो गए हैं। वहीं, पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर मौके का पर पहुंची है।

Advertisement

डीएवी के शिक्षक ने बताया कि शुभ ने दसवीं तक का हमारे स्कूल से पढ़ाई की है

वह शुरू से ही पढ़ाई में अव्वल रहा था। उसने वर्ष 2022 में दसवीं की परीक्षा हमारे स्कूल से दी थी, जिसमे उसका स्कोर 97.4 प्रतिशत रहा था। वह इतना टूट जाएगा, नहीं पता था। मृतक शुभ के पिता ने बताया कि उसकी मां ने सोमवार की शाम को उससे बात की थी। उसकी बातों से लगा कि वह थोड़ा दुखी है।

उसने मुझे बोला कि बेटे से बात कर लो तो मैं और मेरी बड़ी बेटी तीनों ने उससे बात की थी

वह बता रहा था कि उसका एग्जाम अच्छा नहीं गया, जिस पर हम लोगों के द्वारा समझाया गया। कोई बात नहीं अगली बार मेहनत कर लेना। अभी 12वीं की परीक्षा शुरू होने वाली हैं. उसकी तैयारी करो। क्या पता था कल उससे उनकी आखरी बात हो रही है।

Advertisement
Advertisement

Pooja Singh

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)
Back to top button