दुर्ग
Trending

Mahadev App Case: महादेव सट्टा में संलिप्त आरक्षक भीम सिंह बर्खास्त,

महादेव ऑनलाइन सट्टेबाजी एप मामले में निलंबित आरोपी आरक्षक भीम सिंह यादव को एसपी दुर्ग ने पुलिस सेवा से बर्खास्त कर दिया है। एसपी ने जारी किया बर्खास्तगी का आदेश.

Advertisement

भिलाई,Mahadev App Case:  महादेव ऑनलाइन सट्टेबाजी ऐप मामले में निलंबित आरक्षक भीम सिंह यादव को एसपी दुर्ग ने पुलिस सेवा से बर्खास्त कर दिया है। गुरुवार को एसपी ने बर्खास्तगी का आदेश जारी कर दिया. बुधवार को आरोपी सिपाही के भाई अर्जुन सिंह यादव को बर्खास्त कर दिया गया। अर्जुन सिंह अभी भी फरार है. आरोपी भीम सिंह यादव का भाई कांस्टेबल अर्जुन सिंह यादव महादेव सत्ता ऐप मामले में सहयोगी के रूप में शामिल था।

एसपी जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय रायपुर (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सुपेला थाने में पदस्थ

आरक्षक भीम सिंह यादव को गिरफ्तार किया है. प्रवर्तन निदेशालय ऑनलाइन अवैध सट्टेबाजी वेबसाइट महादेव ऑनलाइन बुक के खिलाफ जांच कर रहा है। जांच के दौरान महादेव ऑनलाइन बुक के सट्टा संचालन में कांस्टेबल भीम सिंह यादव की संलिप्तता उजागर हुई है.

Advertisement

जेल में बंद सिपाही की हरकत बेहद गंभीर

एसपी ने बताया कि जेल में बंद सिपाही की हरकत बेहद गंभीर प्रकृति की है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांस्टेबल के इस कृत्य की जांच करना उचित नहीं है, क्योंकि कांस्टेबल (हाल ही में निलंबित) के कृत्य के कारण पुलिस विनियमन अधिनियम के प्रावधान के तहत पुलिस अधिकारी अपना पूरा समय पुलिस सेवा के लिए ही समर्पित करेगा। वह किसी भी व्यापार या व्यवसाय में भाग नहीं लेगा, जब तक कि उसे ऐसा करने की स्पष्ट अनुमति न दी जाए।

दुर्ग एसपी जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि ऐसी स्थिति में

कर्मचारी का पुलिस जैसे अनुशासित विभाग में रहना विभाग और जनहित के लिए उचित नहीं मानते हुए गंभीर आपराधिक कृत्य प्रदर्शित करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई है, जिसके चलते विभाग की उच्च मानकों की छवि समाज में बरकरार रहे। उनके रहते विभागीय व्यवस्था सुदृढ़ रही।

Advertisement
Advertisement

Pooja Singh

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)
Back to top button