दुर्ग
Trending

CG Budget Session 2024: छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के चौथे दिन महादेव सट्टा एप का मामला जमकर गूंजा सदन

महादेव सत्ता ऐप के आरोपियों के घर बुलडोजर से तोड़े जाएं, विधायक ने सदन में कहा- पुलिस अधिकारियों समेत 20 हजार से ज्यादा लोग शामिल

Advertisement

भिलाई,CG Budget Session 2024: छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के चौथे दिन महादेव सत्ता ऐप का मुद्दा खूब चर्चा में है. विधायक रिकेश सेन, राजेश मूणत ने महादेव सत्ता ऐप मामले में दोषियों पर कार्रवाई का मुद्दा उठाया है.

वैशाली नगर विधायक रिकेश सेन ने कहा कि खेल और शिक्षा की राजधानी कही जाने वाली भिलाई

अब महादेव के नाम से जानी जाती है। मेरा मूल प्रश्न यह है कि मेरी विधानसभा के बीस हजार से अधिक युवा इसमें शामिल हैं, लेकिन उनके साथ-साथ कई प्रशासनिक अधिकारी भी महादेव ऐप के संरक्षक थे और उन्होंने ही आईडी संचालन भी किया है।

Advertisement

रिकेश सेन ने सदन में उठाया महादेव सट्टा एप का मुद्दा

दुर्ग जिले में पिछले पांच सालों में लगातार ऐसे लोगों की पोस्टिंग होती रही है. खुद पुलिस प्रशासन के लोगों के पास, अधिकारियों के पास, राजनीतिक दलों के विभिन्न नेताओं के पास महादेव आईडी है, लेकिन आज तक केवल 90 छोटी मछलियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है और उन्हें भी मुचलके पर रिहा कर दिया गया है. इसमें सहयोग करने वाले राजनीतिक लोगों और पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई और कहा गया कि उन्हें तत्कालीन मुख्यमंत्री का भी संरक्षण प्राप्त था.

इसलिए महादेव ऐप के सौरभ चंद्राकर की शादी में मेहमान बने

अधिकारियों और लोगों पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है. विधायक ने कहा, बारातों की सूची बनाई जा रही है जबकि पूरी सूची राष्ट्रीय मीडिया में प्रकाशित हो चुकी है। महादेव ऐप के सभी आरोपी और बाराती अभी भी भिलाई में खुलेआम घूम रहे हैं, उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है और जो लोग एडिशनल एसपी जिले, एसपी और आईजी के पद पर तैनात हैं, वे खुद महादेव की सुरक्षा राशि लेकर आईडी का उपयोग कर रहे हैं पहचान। क्या कार्रवाई होगी?

Advertisement

महादेव सत्ता ऐप के मुद्दे पर गृह मंत्री विजय शर्मा ने जवाब दिया

गृह मंत्री विजय शर्मा ने कहा कि सदस्य की चिंता जायज है, कानून सख्त होना चाहिए और कानून की नजर में कोई छोटा या बड़ा नहीं होना चाहिए. वैसे गिरफ्तारियों के सन्दर्भ में मैं उनके आंकड़ों को सही कर दूं कि 482 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, संबंधित अधिकारियों के सन्दर्भ में, चाहे ईडी चालान के सन्दर्भ में या इंटरनेट मीडिया पर प्रचलित सभी विषयों के सन्दर्भ में। ये चल रहा है, ये प्रामाणिकता की बात हैबाद सदस्यों को इस विषय पर कार्यवाहियां होती दिखेंगी, उनको चिंता करने की आवश्यकता नहीं होगी।
आपको बता दें कि वैशाली नगर विधायक रिकेश सेन भी आज विधानसभा में महादेव सट्टा एप के प्रकरण पर जमकर मुखर दिखाई पड़े। उन्होंने कहा कि भिलाई-दुर्ग क्षेत्र के 20 हजार से ज्यादा लोग इस मामले में जुड़े हैं, अधिकारी और पुलिस विभाग के लोग जुड़े हैं, लेकिन सिर्फ 90 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। ऐसे में कैसे कार्रवाई होगी?

विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा- बुलडोजर से गिरवाईये आरोपितों के घर

विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा कि गृहमंत्री को उत्तर प्रदेश जाकर योगीजी से बुलडोजर कार्रवाई की जानकारी लेनी चाहिये। चार-पांच लोगों का घर बुलडोजर से गिरवाईये, तो सब ठीक हो जायेगा। कितना नियम कायदों में चलोगे। यहां अब बुलडोजर टाइप कार्रवाई की जरूरत है। गृह मंत्री ने कहा ये मामला काफी संवेदनशील है। इस मामले में केंद्रीय एजेंसी जांच कर रही है। उन्होंने चालान पेश कर दिया है। एक बार जांच पूरी हो गयी, तो कार्रवाई होती दिखेगी।

Advertisement

भाजपा विधायक रिकेश सेन के एक सवाल के जवाब में गृहमंत्री विजय शर्मा ने बताया कि इस मामले में 400 से ज्यादा लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। अभी जांच प्रक्रिया चल रही है। जांच पूरी होते ही कार्रवाई शुरू हो जायेगी। गृहमंत्री ने कहा कि इस मामले में किसी भी दोषियों को बचाने का कोई सवाल ही नहीं उठता।

विधायक मूणत ने महादेव सट्टा एप मामले में कार्रवाई को लेकर पूछे सवाल

राजेश मूणत ने भी महादेव सट्टा ऐप मामले में दोषियों पर कार्रवाई का मुद्दा उठाया। मूणत ने कहा कि महादेव सट्टा एप व अन्य सट्टा एप के संबंध में कब कब और क्या-क्या शिकायत की गई है? यह भी पूछा कि इस पर क्या-क्या कार्रवाई की गई है? उन्होंने कहा कि इस मामले में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के लोग शमिल है, ये काफी संवेदनशील मामला है। दुबई से इसका संचालन चल हो रहा है।
जवाब में गृह मंत्री विजय शर्मा ने बताया कि महादेव सट्टा एप की कुल 28 शिकायत प्राप्त हुई है, 90 अपराध पंजीकृत किए गए हैं। राजेश मूणत ने कहा कि जांच कैसे होगी? जब वही अधिकारी हैं, वही पुलिसकर्मी हैं, तो जांच कौन करेगा? सभी दोषियों के खिलाफ कार्रवाई हो, जांच भले ही विधानसभा की कमेटी से करा ली जाये या फिर अन्य कमेटी से लेकिन मामले में गंभीरता से जांच की जरूरत है। गृह मंत्री ने कहा कि कोई भी मछली या मगरमच्छ हो सब पकड़े जाएंगे। विधायक ने पूछा कि क्या सीबीआई से जांच कराएंगे?

Advertisement
Advertisement

Pooja Singh

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)
Back to top button