इंडिया न्यूज़पंजाबमुख्य समाचारराजनीति

अब तो किसानों से भी मुनाफा कमा रही है केंद्र सरकार : नवजोत सिंह सिद्धू

Advertisement

इंडिया एज न्यूज नेटवर्क

चंडीगढ़ : पंजाब प्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू आज माछीवाड़ा अनाज मंडी में फसल बेचने आए किसानों का हाल देखने पहुंचे जहां उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते कहा कि केंद्र सरकार किसानों से 2000 रुपए प्रति क्विंटल गेहूं खरीद कर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 3500 रुपए कविंटल बेच रही है इसलिए किसानों को कम से कम 500 रुपए मुआवजा जरूर दिया जाए। सिद्धू ने कहा कि युक्रेन और रूस के बीच लड़ाई दौरान पहले ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 25 प्रतिशत गेहूं कम की गई है जिस कारण इस की जरूरत बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि पहले गेहूं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 2200 रुपए क्विंटल बिकती थी जो अब 3500 रुपए क्विंटल पर पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि आज प्राईवेट कॉर्पोरेट घराने भी समर्थन मूल्य की अपेक्षा 200 रुपए प्रति क्विंटल महंगी खरीद कर आगे 1300 रुपए का लाभ कमा रहे हैं।

Advertisement

सिद्धू ने किसानों के हित में आवाज उठाते कहा कि वह केंद्र सरकार से अपील करते हैं कि किसानों के फसल में से ही कमाए गए मुनाफे में से कम से कम 500 रुपए प्रति क्विंटल के हकदार तो हैं। सिद्धू ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार फसलों के समर्थन मूल्य में 5 रुपए मूल्य के विस्तार कर किसानों से डीजल, खाद और कीटनाशक दवाओं के रेट बढ़ा कर 50 रुपए वापिस ले रही है जोकि किसानों के साथ सीधे तौर पर धक्का है।

सिद्धू ने कहा कि ज्यादा गर्मी पड़ने कारण इस बार गेहूं का झाड़ तो पहले ही बहुत कम हो गया है इसलिए सरकार किसानों के हितों के लिए जरूर सोचे। इस मौके नवतेज सिंह चीमा, अरुण सेखड़ी, नाजर सिंह मनशाहिया , आढ़ती एसोसिएशन के राज्य प्रधान विजय कालड़ा, पावरकॉम के डायरेक्टर कर्णवीर सिंह ढिल्लों, मार्केट कमेटी के चेयरमैन दर्शन कुंद्रा, नगर कौंसिल प्रधान सुरिंदर कुंद्रा, आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान तेजिंदर सिंह कून्नर, हरजिंदर सिंह खेड़ा, आढ़ती मोहित कुंद्रा, अरविंदरपाल सिंह बिकी, गुरनाम सिंह नागरा, चेयरमैन सुखवीर सिंह पप्पी, पी.ए राजेश बिट्टू, जसदेव सिंह बिट्टू भी मौजूद थे।

Advertisement

प्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार को आड़े हाथों लेते कहा कि जब पिछली कांग्रेस सरकार दौरान चरणजीत सिंह चन्नी मुख्यमंत्री और वह पार्टी प्रधान थे तो उनकी तरफ से पेट्रोल और डीजल के 10 रुपए तक रेट घटा कर लोगों को राहत दी थी और अब फिर केंद्र ने पेट्रोलियम पदार्थों के रेट बेतहाशा बढ़ा दिए हैं इसलिए ‘आप’ सरकार इन के रेट घटाए। उन्होंने कहा कि डीजल के भाव घटाने से किसानों को बड़ी राहत मिलेगी।

सिद्धू ने कहा कि केंद्र व पंजाब सरकार एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने की बजाय राज्य के मुद्दों की पहरेदारी करे। कांग्रेस के पूर्व प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने ‘आप’ की सरकार के मुख्यमंत्री का नाम लिए बिना व्यंग्य कसते कहा कि पहले तो बड़े-बड़े दमगजे मारे थे कि लोगों को 300 यूनिट मुफ्त बिजली देंगे और अब चिड़े जितने मुंह निकला पड़ा और चुटकुले भी भूले पड़े हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को मुफ्त बिजली तो क्या मिलनी थी बल्कि 8-8 घंटे बिजली कट का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि आज पंजाब में बिजली की जरूरत 8 हजार मेगावाट है और जब धान की बिजाई शुरू होनी है यह 15 हजार मैगावाट तक पहुंच जानी है फिर उस मुद्दे पर बोलकर सरकार के कुंडे खोले जाएंगे।
(जी.एन.एस)

Advertisement
Advertisement

India Edge News Desk

Follow the latest breaking news and developments from Chhattisgarh , Madhya Pradesh , India and around the world with India Edge News newsdesk. From politics and policies to the economy and the environment, from local issues to national events and global affairs, we've got you covered.
Back to top button