इंडिया न्यूज़बिहार

अमित शाह की मौजूदगी में 75,000 से अधिक लोग एक साथ लहराएंगे तिरंगा

Advertisement

इंडिया एज न्यूज नेटवर्क

पटना : बिहार में इस सप्ताह के अंत में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में आयोजित होने वाले समारोह में 75,000 से अधिक लोग एक साथ तिरंगा लहराएंगे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ता ‘‘पाकिस्तान का रिकॉर्ड तोड़ने” की संभावनाओं से उत्साहित हैं। अमित शाह ‘‘अमृत महोत्सव” के तहत शनिवार को भोजपुर जिले के जगदीशपुर में 1857 के वीर कुंवर सिंह के विद्रोह की स्मृति में आयोजित एक समारोह में शामिल होंगे।

Advertisement

केंद्रीय राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा, ‘‘हम ध्वजवाहकों की संख्या पर कोई सीमा नहीं लगा सकते, लेकिन यह 75,000 से कम नहीं होगा। अधिक लोगों का शामिल होना प्रसन्नता की बात होगी। उपस्थित लोगों की सुविधा सुनिश्चित करने के लिए पूरी व्यवस्था की जा रही है।” राय पूर्व में भाजपा की बिहार इकाई के अध्यक्ष थे। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल समारोह के सफल आयोजन के लिए भोजपुर में डेरा डाले हुए हैं। उन्होंने गुरुवार को कहा, ‘‘पाकिस्तान का रिकॉर्ड लगभग 56,000 झंडों का है, जिसे 2004 में स्थापित किया गया था। इस दिन गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की टीम भी उपस्थित रहेगी।”

जायसवाल ने कहा कि जगदीशपुर के 70 वर्षीय राजा वीर कुंवर सिंह एक दुर्लभ हिंदू शासक के उदाहरण के रूप में सामने आए थे, जो जाति आधारित भेदभाव में विश्वास नहीं करते थे और निचली जातियों के लोगों को अपने निजी अंगरक्षकों के रूप में रखते थे। अगर उनके जैसे कुछ और होते तो पानीपत की लड़ाई में हिंदू राजाओं को हार का सामना नहीं करना पड़ता। हालांकि, भाजपा नेता पानीपत की किस लड़ाई का जिक्र कर रहे थे, इसे उन्होंने स्पष्ट नहीं किया। मध्यकालीन युग में हरियाणा का शहर तीन महत्वपूर्ण युद्ध का गवाह रहा है। पहला युद्ध इब्राहिम लोदी और बाबर के बीच लड़ा गया था जिसे बाबर ने जीता था। दूसरी लड़ाई में अकबर ने दिल्ली के हिंदू राजा हेमू को हराया जबकि तीसरे युद्ध में दो शताब्दियों से अधिक समय बाद लड़े मराठा अफगानों से हार गए थे।

Advertisement

जायसवाल ने यह भी कहा, ‘‘वीर कुंवर सिंह ने भारत की अखंडता के लिए लड़ते हुए अपना जीवन त्याग दिया था। अमित शाह ने उनके सपने को तब साकार किया जब 2019 में उन्होंने जम्मू कश्मीर के पूर्ण एकीकरण के रास्ते में आए अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म कर दिया था।” उन्होंने सभी राजनीतिक दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं से वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव के मौके पर आयोजित होने वाले उक्त समारोह में भाग लेने के लिए जगदीशपुर पहुंचने का आग्रह किया।

जायसवाल ने बिहार के तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं से आग्रह करते हुए कहा कि पक्ष-विपक्ष का अंतर भूलकर 23 अप्रैल को जगदीशपुर दुलौर मैदान में पहुंचकर तिरंगे को अपने हाथों में जरूर थामें। उन्होंने कहा, ‘‘आजादी के अमृत महोत्सव के तहत जगदीशपुर में आयोजित हो रहा बाबू वीर कुंवर सिंह का विजयोत्सव हमारी इसी एकजुटता का सिंहनाद है। हमारा साझा उद्देश्य होना चाहिए कि यह दिवस पूरे विश्व के समक्ष एक मिसाल प्रस्तुत करे।” समारोह की तैयारियों की निगरानी में जुटे भाजपा के अन्य नेताओं में मंत्री सम्राट चौधरी और प्रमोद कुमार शामिल हैं। चौधरी भोजपुर जिले और आसपास के रोहतास के स्वयंसेवकों के साथ समन्वय कर रहे हैं और प्रमोद अरवल और जहानाबाद में स्वयंसेवकों के संपर्क में हैं।
(जी.एन.एस)

Advertisement
Advertisement

India Edge News Desk

Follow the latest breaking news and developments from Chhattisgarh , Madhya Pradesh , India and around the world with India Edge News newsdesk. From politics and policies to the economy and the environment, from local issues to national events and global affairs, we've got you covered.
Back to top button